शनिवार, मार्च 24, 2012

रवि किशन की आँखों का जादू


भोजपुरिया सिनेमा में अपने सहयोगी कलाकारों में टाइगर के नाम से मशहूर रवि किशन की आँखे परदे पर बोलती है , गजब की अभिनय क्षमता रखने वाले रवि किशन को जब भी मौका मिला है उन्होंने बता दिया है की उनमे कितना दम ख़म है . इसी शुक्रवार रिलीज़ हुई सैफ अली खान की होम प्रोडक्शन की फिल्म एजेंट विनोद में रवि किशन अतिथि भूमिका में दिखे . बरसो पहले एक साथ काम कर चुके सैफ अली खान को अपनी इस फिल्म में एक ऐसे कलाकार को अतिथि भूमिका के लिए आमंत्रित करना था जो अपनी आँखों से अपनी सारी बात कह सकते हैं. चूँकि सैफ अली खान की यह होम प्रोडक्शन की फिल्म थी अगर वो चाहते तो हिंदी फिल्मो के किसी भी सुपर स्टार को इस भूमिका के लिए राजी कर सकते थे लेकिन उन्होंने पुरानी दोस्ती और रवि किशन की बोलती आँखों के कारण उन्हें इस भूमिका के लिए चुना . सैफ अली खान ने अपनी इस फिल्म एजेंट विनोद की शुरुवात ही रवि किशन की आँखों से की . रवि किशन ने भी अपनी अतिथि भूमिका को बखूबी अंजाम दिया है और यही वजह है की उनकी केमियो ( अतिथि भूमिका ) की भी फिल्म समीक्षकों ने सराहना की है. रवि किशन इस फिल्म में एजेंट राजन की भूमिका में हैं और शुरुवात के दस मिनट में वो अकेले स्क्रीन शेयर करते दिखाई दे रहे हैं. बकौल रवि किशन - उन्होंने हमेशा भूमिका को देखा है , रोल की लम्बाई को नहीं . अगर कलाकार की भूमिका अच्छी हो तो एकाध दृश्य भी यादगार बन जाती है. बहरहाल, रवि किशन की बोलती आँखों का जादू हिंदी फिल्मो में जम कर चल रहा है.