मंगलवार, फ़रवरी 07, 2012

गरदा उड़ा देब की शूटिंग समाप्त


छत्तीसगढ़, बिहार व झारखंड की समसामयिक घटनाक्रम पर आधारित फिल्म ‘‘गरदा उड़ा देब’’ की 55 दिवसीय शूटिंग का समापन छत्तीसगढ़ के विभिन्न खूबसूरत लोकेशन पर किया गया है। यह फिल्म भोजपुरी भाषा के अलावा छत्तीसगढ़ी भाषा में ‘‘गदर मताही’’ के नाम से भी बनायी जा रही है। छत्तीसगढ़ के मशहूर अभिनेता शशीमोहन सिंह पेशे से ‘‘एडीशनल एस. पी’’, फिल्म ‘‘गरदा उड़ा देब’’ के माध्यम से भोजपुरी सिनेमा में पर्दापण कर रहे हैं। इस फिल्म के निर्माता हैं - सुखजीत सिंह ’’धामी’’ तथा सह निर्माता - आर. के. श्रीवास्तव, सुनील श्रीवास्तव एवं पीयुष नवानी। कथा-पटकथा व निर्देशन की बागडोर संभाली है - रजनीश झांजी ने। संगीत-सुनील सोनी, गीत-राजेश मिश्रा, संतोष झाँजी व के. डी. सिंह तथा पाश्र्व-संगीत-छोटे बाबा का है। नृत्य-तरूण निषाद, कैमरा-दीपक बावनकर, कला निर्देशन-कलिंगा तथा मारधाड़-शैलेन्द्र मास्टर का है। मुख्य कलाकार हैं-शशीमोहन सिंह, बबली, रीतू पाण्डेय, प्रदीप कौशिक, बाली कुर्रे, पूरन कोरी, पुष्पेन्द्र सिंह, मिनी झाँजी, लक्षित हर्सुल, हेमलाल एवं बालेश्वर सिंह। तथा आईटम नृत्य संभावना सेठ ने किया है।